top of page

Shiksha Kranti-Global Education Sensitization Society- A workshop on cleanliness at PG College Solan

Updated: Apr 13, 2020

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सोलन में स्वच्छता कार्यशाला आयोजित I




क्रमांक 1224/2019 सोलन दिनांक 24.12.2019

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सोलन में स्वच्छता कार्यशाला आयोजित

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सोलन में आज राष्ट्रीय सेवा योजना के साप्ताहिक सत्र में स्वच्छता कार्यशाला का आयोजित की गई। कार्यशाला में सामाजिक संस्था शिक्षा क्रांति के संस्थापक सत्यन ने राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवियों को स्वच्छता के विभिन्न आयामों को लेकर जागरूक किया।

सत्यन ने कहा कि हमारे सार्वजनिक स्थानों पर फैली गंदगी हमारे भीतर बसी गंदगी का ही प्रतिबिम्ब है। उन्होंने कहा कि हमें सबसे पहले स्वयं स्वच्छ होना होगा तभी हम समाज को स्वच्छ बना सकेंगे। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्वच्छता क्रांति से अधिक महत्वपूर्ण व्यक्तिगत स्वच्छता क्रांति है।

उन्होंने कहा कि स्वच्छता के लिए व्यक्तिगत स्तर पर हम सभी को सिंगल यूज प्लास्टिक जैसे पॉलीबैग, प्लास्टिक प्लेट तथा कप इत्यादि के इस्तेमाल को बंद करना होगा। उन्होंने कहा कि इसके स्थान पर हमें पारम्परिक कपड़े से निर्मित थैले एवं पत्तल का उपयोग करना होगा तभी हम पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान दे सकते हैं।

सत्यन ने राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयसेवियों को तन, मन तथा धन से स्वच्छ रहने की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि नशा, कचरा और बलात्कार जैसी अनेक सामाजिक बुराइयों की जड़ भ्रष्टाचार है, यदि हम भारत को भ्रष्टाचार मुक्त स्वच्छ भारत बनाने के लिए एकजुट प्रयास करें, तो बहुत सारी सामाजिक बुराईयां स्वयं दूर होगी।

इस अवसर पर शिक्षा क्रांति के कैलाश शर्मा ने एक प्रगतिशील किसान एवं समाजसेवी होने के नाते स्वयसेवीयों को रसायन मुक्त स्वच्छ एवं जैविक खेती करने के लिए जागरूक किया।

राजकीय महाविद्यालय सोलन के राष्ट्रीय योजना अधिकारी डॉ. राजन तनवर ने शिक्षा क्रांति संस्था से आये स्वयंसेवी सत्यन, कैलाश शर्मा,अभिनंदन, देवांश, मनीषा ठाकुर एवं आंचल शर्मा का स्वच्छता कार्यशाला में भाग लेने के लिए आभार प्रकट किया।

19 views0 comments

Comments


bottom of page